जान का कलेश बना कूड़ा फेंकना! यूपी में सिपाही के परिवार को विवाद के बाद उतारा मौत के घाट

0
122

बांदा (उप्र) । उत्तर प्रदेश के बांदा शहर के गायत्री नगर (चमरौड़ी) मुहल्ले के परशुराम तालाब में शुक्रवार की आधी रात नाली में कूड़ा फेंकने के मामूली विवाद में चचेरे भाइयों ने धारदार हथियार से हमलाकर सिपाही, उसकी मां एवं बहन की हत्या कर दी। वारदात में दो अन्य घायल भी हुए हैं। पुलिस ने इस सिलसिले में कल रात में ही तीन हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है और एक महिला को हिरासत में लिया है।

नगर पुलिस उपाधीक्षक (सीओ) आलोक मिश्रा ने शनिवार सुबह पीटीआई- को बताया, बांदा शहर के गायत्री नगर (चमरौड़ी) मुहल्ले के परशुराम तालाब में शुक्रवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे नाली में कूड़ा और सड़े चावल फेंकने के मामूली विवाद के बाद प्रयागराज जिले के नैनी थाना में तैनात सिपाही अभिजीत वर्मा (27), उसकी बहन निशा वर्मा (29) और मां रमावती (54) की पड़ोसी चचेरे भाइयों ने कुल्हाड़ी, लाठी-डंडों और तमंचे से गोली मारकर हत्या कर दी।

उन्होंने बताया, इस सिलसिले में करीब दो बजे रात में ही छापेमारी कर एक घर से मृत सिपाही के चचेरे भाई देवराज, शिवपूजन, बबलू को घटना में इस्तेमाल किये गए हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया और हमले में शामिल आरोपियों के परिवार की एक महिला को भी हिरासत में लिया है। उन्होंने बताया कि अन्य फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है। सीओ ने बताया कि हमले के दौरान सिपाही अभिजीत, उसकी बहन और मां को बचाने में अभिजीत के साथी दिलीप (24) और एक महिला रज्जो देवी (35) भी कुल्हाड़ी लगने से घायल हुए हैं, जिनको इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

सिपाही अवकाश में दीवाली मनाने अपने घर आया था। तीनों शवों का आज पोस्टमॉर्टम करवाया जाएगा। वहीं, शहर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) दिनेश सिंह ने बताया कि दोनों चचेरे भाइयों के बीच नाली में कूड़ा और सड़े चावल फेंकने को लेकर शुक्रवार देर शाम पहले मामूली विवाद हुआ। जिसके बाद मृत सिपाही के चचेरे भाई देवराज, शिवपूजन और बबलू ने तमंचे से हवाई फायर कर दहशत फैलाई थी। उन्होंने बताया कि विवाद कुछ शांत ही हुआ था कि रात करीब साढ़े ग्यारह बजे पांच-छह लोगों ने सिपाही अभिजीत वर्मा के घर में धावा बोल दिया और घर से बाहर घसीट कर तीनों की हत्या कर दी।

सिंह ने बताया कि सिपाही अभिजीत, उसकी बहन निशा और मां रमावती को अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मुहल्ले में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात है। पुलिस ने बताया कि मृतक सिपाही अभिजीत का छोटा भाई सौरभ भी पुलिस का प्रशिक्षित सिपाही है, वह आज सुबह बांदा कोतवाली आ गया है।

उसकी तहरीर पर हत्या का मुकदमा लिखा जा रहा है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। घटना की जानकारी मिलने पर बांदा परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) के. सत्यनारायण, पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा और जिलाधिकारी आनन्द कुमार सिंह ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया है और मातहतों को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।