विद्या बालन का खुलासा – उस हरकत से मैं टूट गई थी, 8 महीने मैंने अपना चेहरा नहीं देखा

0
260

विद्या बालन हिंदी सिनेमा की उन एक्ट्रेसेस में से एक हैं जो कि अपनी प्रतिभा के लिए जानी जाती हैं। विद्या ने साल 2005 में अपने करियर की शुरुआत फिल्म परिणीता से की। इसके बाद उनके हिस्से में कई हिट फिल्में भी आयी। बीते साल उनकी मिशन मंगल रिलीज हुई। जो कि सुपरहिट रही है। लेकिन करियर की शुरुआत में विद्या बालन को वो सबकुछ देखना पड़ा जिसकी उम्मीद उन्हें कभी नहीं थी। विद्या बालन ने एक इंटरव्यू में इसका खुलासा किया कि कैसे उन्होंने सारी कठिनाई से निकलकर खुद के बतौर एक्ट्रेस हिंदी सिनेमा में स्थापित किया है। चलिए जानते हैं कि विद्या बालन ने अपने करियर को लेकर कौन से खुलासे इस बातचीत में किए हैं। यहां पढ़िए पूरी डिटेल..

निर्माता ने कहा कौन से हिसाब से हीरोइन लगती है- विद्या बालन

विद्या बालन ने कहा कि एक मैंने एक मलयालयम फिल्म साइन की थी। लेकिन बिना किसी बात के मुझे फिल्म से निकाल दिया गया। मेरे माता-पिता मेरे साथ उस निर्माता के पास गए। तभी निर्माता ने फिल्म के कुछ सीन दिखाए और कहा कि आप देखकर बताएं क्या ये लगती है हीरोइन किसी एंगल से? विद्या ने आगे कहा कि ये देखकर मेरे अंदर कुछ बुझ गया था। निर्माता ने बताया कि डायरेक्टर के बोलने मुझे लिया गया था, वरना लेना ही नहीं था। इसे सुनकर मैं टूट गई थी। 6 से 8 महीने तक मैंने अपना चेहरा आईने में नहीं देखा था।
ऑडिशन की बात बताते हुए विद्या बालन ने कहा कि कॅालेज में मुझे पता चला कि एक शो के लिए ऑडिशन हो रहा है, मैंने ऑडिशन दिया । इसके लिए मैं सेलेक्ट हो गई। लेकिन वो शो टेलीकास्ट नहीं हुआ। मैंने इसके लिए अपने मार्केट वाली शादी वाले फोटोग्राफर से फोटो खिंचवाई थी। शादी वाले कपड़े पहन कर। विद्या बालन ने आगे कहा कि मैं एक ऑडिशन के लिए सुबह 11 बजे पहुंची। शाम को 7 बजे मेरा नंबर आया। मेरे माता-पिता को लगा कि ये भूत अब मेरे सिर से उतर जाएगा। इसके बाद हम 5 आया। इसके लिए मैं सेलेक्ट हो गई।